स्वास्थ्य ज्ञान, Health Related Articles in Hindi,

What is dyslexia and how to treat it  ,siqn and symptoms- in hindi

​आपने आमिर खान की फ़िल्म तारे जमीन पर तो देखी ही होगी. उस मूवी में एक 8 साल का बच्चा है जिसका नाम इशान अवस्थी है. उसे लिखने और पढने में कठिनाई महसूस होती है. वह शब्दों और अक्षरों को गलत या उल्टा पढता है और कई बार ठीक से उनका उच्चारण भी नहीं कर पाता.  मनोविज्ञान में इस कठिनाई को dyslexia (डिस्लेक्सिया) के नाम से जाना जाता है.
Dyslexia एक ऐसी अवस्था का नाम है जिसमे बच्चो को लिखने पढने, शब्दों को पहचानने, समझने और याद करने में दिक्कत महसुसू होती है. माता – पिता को लगता है की बच्चा पढाई न करने के बहाने बना रहा है लेकिन डांटने और तमाम कोशिश करने के बावजूद बच्चे के व्यवहार में बदलाव नहीं आ पाता. इसे Dyslexia के नाम से जाना जाता है.
 
IS DYSLEXIA A MENTAL DISORDER – क्या डिस्लेक्सिया मानसिक बीमारी है
 
कई लोगो को लगता है की डिस्लेक्सिया एक मानसिक बीमारी यानी mental illness है. कई लोग इससे slow learner या mental retardation (मंद बुद्धि ) से जोड़ कर कर देखते है लेकिन ऐसा बिलकुल नहीं है. यह कोई बीमारी या विकार नहीं है. यह एक learning disability है जो कई बच्चो में देखी जाती है. दुनियां में 3 से 25 साल तक के 3 % लोगो में Dyslexia के लक्षण देखे गए है. ऐसे बच्चो में प्रतिभा और कौशल की बिलकुल कमी नहीं होती. दुनियां के कई प्रसिद्ध लोगो और विज्ञानिको में भी Dyslexia के लक्षण पाए गए थे. ऐसे बच्चो की photographic memory काफी तेज होती है. यानी एक बार किसी को चीज को अपने दिमाग में बैठा ले तो लंबे समय तक नहीं भूलते.
 
SIGN AND SYMPTOMS OF DYSLEXIA IN HINDI – डिस्लेक्सिया के लक्षण
 
आम तोर पर DYSLEXIC बच्चो में यह लक्षण देखने को मिलते है.
 
छोटे बच्चो को alphabet के letters पह्चाहने और उन्हें लिखने में दिक्कत महसूस होती है. जैसे M को W समझना.

 
ऐसे बच्चो का उच्चारण दुसरे बच्चो की तुलना में उतना साफ़ नहीं होता. जैसे “mawn lower ” को “lawn mower” बोलना.

 
शब्दों, और चीजो के नामो को याद रखने में कठिनाई महसूस होती है. साथ ही नय शब्दों ओ समझने में भी थोड़ी दिक्कत होती है.

 
एकग्रता (concentration) में कमी होती है. लंबे समय तक किसी एक चीज पर ध्यान नहीं लगता.

 
पहले और बाद में, time का पता लगाने, बांये और दांये (Right or left) आदि के बीच में फर्क को समझने में दिक्कत होती है.

 
मैथ्स के टेबल्स, multiplication, divide etc को करने में दिक्कत होती है.

 
अपने आस पास के लोगो के साथ घुलने मिलने या तालमेल बिठाने में कठिनाई होती है.

 
CAUSES OF DYSLEXIA IN HINDI – डिस्लेक्सिया के कारण
 
कई लोगो में डिस्लेक्सिया जन्म से ही होता है. ऐसा DCDC2 genes में डिफेक्ट होने के कारण भी होता है जो reading performence से जुड़ा हुआ है.

 
बच्चो में कुपोषण भी इसकी एक प्रमुख वजह है.

 
प्रेगनेंसी के दौरान माँ के ध्रूमपान करने से भी यह होता है.

 
MANAGEMENT AND TREATMENT OF DYSLEXIA IN HINDI – डिस्लेक्सिया का प्रबंधन
 
डिस्लेक्सिया को mange किया जा सकता है. इसके लिए पेरेंट्स और टीचर्स की सबसे ज्यादा भूमिका होती है. अगर आपके बच्चे को डिस्लेक्सिया है तो पेरेंट्स के तौर पर आपकी भूमिका और अधिक बड जाती है.

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s