self improvement (self knowlege)

​बड़ा सोचो, जरा हट के सोचो Think Big, Success Training Article

ये केवल एक मोटिवेशनल आर्टिकल नहीं है ये एक ट्रेनिंग आर्टिकल है, आज आप सब इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद “बड़ी सोच(think positive & think big)” के मालिक बन जाओगे, ऐसी कुछ ट्रेनिंग आपको मैं इस आर्टिकल में देने वाला हूँ। दोस्तों आगे बढ़ना है तो अपनी सोच को बढ़ा रखिये क्यूंकि सोच बड़ी होगी तो सपने भी बड़े होंगे और आपके हौंसले भी बड़े होंगे।
हममें से काफी लोग जब बड़े सपने, बड़ी सोच रखने की कोशिश करते हैं तो हमारे दिमाग में कुछ ऐसे सवाल आते हैं –

  1. बड़ी सोच क्यों जरुरी है, इसका फायदा क्या है?

  2. मुझसे नहीं होगा, मेरे बस की बात नहीं है

  3. यार लोग क्या कहेंगे ? “सबसे बड़ा रोग – क्या कहेंगे लोग”
    चलिए इन पॉइंट्स पर बारी बारी बात करते हैं –

  4. बड़ी सोच क्यों जरुरी है- आपको याद होगा, बचपन में एक drawing का subject होता था, जिसमें कोई चित्र बना होता था और हमें उसके अंदर रंग(color) भरना होता था। अगर कलर लाइन से बाहर निकल जाता था तो मार्क्स भी कटते थे और डाँट भी पड़ती थी। दोस्तों हमने अपने जीवन को भी कुछ वैसे ही बना लिया है, हमने अपने चारों ओर एक छोटी सोच की boundary बना ली है और हम उस लाइन से बाहर निकलने में डरते हैं, हमने उसी boundary को अपनी जिंदगी मान लिया है। हम रिस्क नहीं लेते और उसी दायरे में हम पूरी जिंदगी काट लेते हैं।
    वैसे अगर कोई व्यक्ति अपनी boundary को तोड़कर रिस्क लेकर कुछ बड़ा करता है तो हम उसे देखकर बड़े खुश होते हैं – वाह वाह , क्या बात है, बंदा आज कहां से कहां पहुंच गया, लेकिन खुद कभी अपने दायरे से बाहर नहीं निकल पाते। खुद को हमने सीमित बना लिया है। उस दायरे को तोडना है तो बड़ी सोच रखनी होगी, बड़े सपने देखने होंगे।
    इसका फायदा क्या है- दोस्तों आज मैं आपको एक नई ट्रिक बताता हूँ, आपका जो दिमाग है ना, वो आपकी सोच के हिसाब से ही आपको solutions बताता है।

मान लीजिये आपको नदी पार करनी है तो आपके दिमाग में उसे पार करने के लिए क्या solution आएगा – “नाव”

चलिए अब सोचिये आपको समुद्र पार करना है तो मन में क्या solution आएगा – “पानी का जहाज यानि शिप”

मतलब जैसी आपकी सोच होती है वैसे ही हमारा दिमाग हमें solution देता है। तो बड़ी सोच का सबसे बड़ा फायदा यही है कि आपको बड़े बड़े solution मिलने शुरू हो जायेंगे।
बड़ी सोच का दूसरा फायदा ये है कि आप कहीं ना कहीं अच्छी जगह पहुंच ही जाते हैं। मान लीजिये आपने सोचा मुझे वर्ल्ड का सबसे बड़ा डॉक्टर बनना है, तो अगर आप वर्ल्ड के सबसे बड़े डॉक्टर नहीं बन पाये तो कम से कम एशिया के ही सबसे बड़े डॉक्टर बन जायेंगे, अगर एशिया के भी नहीं बन पाये तो इण्डिया के ही सबसे बड़े डॉक्टर बन जायेंगे, इण्डिया के भी नही बन पाये तो कम से कम अपनी सिटी के ही सबसे बड़े डॉक्टर बन जाओगे और अगर सिटी के भी नहीं बन पाये तो अपने नगर या जिले के ही बड़े डॉक्टर बन जाओगे। लेकिन अगर आपने सोचा कि मुझे तो बस छोटा मोटा डॉक्टर बनना है तो आप नगर या जिले के तो क्या, अपनी गली के भी बड़े डॉक्टर नहीं बन पाओगे, हमेशा एक छोटे मोटे ही बने रहोगे।
तीसरा बड़ी सोच का फायदा ये है कि अगर आप कल कोई बड़े इंसान बन गए तो लाखों लोगों के घर में आपकी वजह से रोटी पहुंचेगी। अगर आप बड़े सिंगर बन गए तो लाखों लोगों का मनोरंजन करोगे, बड़े डॉक्टर बन गए तो लाखों लोगों की जिंदगी बचाओगे, अगर बड़ी फैक्ट्री के मालिक बन गए तो लाखों लोगों को आपकी वजह से खाना मिलेगा, लाखों लोगो को आपकी वजह से रोजगार मिलेगा।
2. मुझसे नहीं होगा, मेरे बस की बात नहीं है- हमेशा याद रखिये, हर इंसान जो आज सफल है उसने भी कभी बहुत छोटे से ही शुरुआत की थी। हर बड़े काम की शुरुआत छोटे से ही होती है। “Start small think big” बिल गेट्स ने अपने घर के पीछे वाले कमरे से बिजनिस शुरू किया और आज वर्ल्ड की सबसे बड़ी कम्पनी माइक्रोसॉफ्ट की स्थापना की। हमारे पूर्व राष्ट्रपति ऐ पी जे अब्दुल कलाम, बचपन में रोज सुबह अख़बार बाँटने जाया करते थे और बाद में दुनिया के बड़े वैज्ञानिक बने। इन लोगों की शुरुआत चाहे छोटी थी लेकिन सोच हमेशा बड़ी थी। ऐसा नहीं है कि इन लोगों को कभी डर नहीं लगा होगा, या कभी हतोत्साहित नहीं हुए होंगे, इनको भी डर लगा होगा, इनको भी मंजिल मुश्किल लगी होगी, लेकिन डर के आगे जीत है।
3. यार लोग क्या कहेंगे ? “सबसे बड़ा रोग – क्या कहेंगे लोग” – हमारे आस पास के माहौल में हमें बहुत सारे लोग ऐसे मिल जायेंगे जो बोलते होंगे –

– तेरे बस की बात नहीं है

– शक्ल देखी है अपनी

– भाई इतना आसान नहीं है

– अपने मार्क्स देखे हैं कोई नौकरी पे भी नहीं रखेगा
तो दोस्तों मैं आपसे एक सवाल पूछना चाहता हूँ कि आपको इन लोगों पे ज्यादा विश्वास है या खुद पे? आपक खुद को बेहतर जानते हैं या ये लोग आपके बारे में  हैं या ये लोग आपके बारे में ज्यादा जानते हैं? आप अपनी जिंदगी अपनी तरह से चलाना चाहते हो या इनकी तरह से?
ये जिंदगी आपकी है, लाइफ दोबारा दोबारा चांस नहीं देती, ये कोई रिहर्सल नहीं चल रही, ये जिंदगी है जो समय आपने गँवा दिया वो चला गया। जब आपके अंदर पूरी क्षमता है, आप पूरी तरह सक्षम हैं तो क्यों खुद को इन लोगों की वजह से पीछे रखे हुए हो? लोगों का काम है कहना।
दोस्तों जरा याद करो आज से करीब 10 साल पहले भी जब हम छोटे थे तब भी हमारे कुछ सपने थे, लेकिन वो सपने आज कहीं दब कर रह गए हम पूरे नहीं कर पाये। अब सोचिये आज जो आपके सपने हैं, जो आपके मुकाम हैं अगर वो हासिल नहीं हो पाये तो आज से 10 साल बाद आपको कैसा लगेगा।
तो दोस्तों आपको आज से ही बदलना होगा, आज से ही सोच बड़ी करनी होगी। आज मेरे साथ इस ट्रेनिंग में कसम खाइये और नीचे कॉमेंट में लिख दीजिये कि आज से आप अपनी सोच को बड़ी रखेंगे।

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s