short hindi stories

Uttam bahu

बहुत पुरानी बात है ..एक गांव में एककिसानथा उसके तीन बेटे-बहुए थी.. सब कुछ

ठीकठाक चल रहा था , तब किसान के मन

मेंतीर्थयात्रा पर जाने की बात आई

मगर ,किसान ने

सोचा मेंअपनी सारी जिम्मेदारी किसे

सौपु …बहुघर की लक्ष्मी होती है …अत:

इनमेसे

ही किसी एकको चुनना चाहिए …लेकिन

किसे …?उसने बहुत सोचा फिर उसने एक

काम किया ,वो बाजार गया और वहाँ से

तीन बोरी गेहूंलाया …उसने तीनो बहुओ

को अपने पासबुलाया और कहा..”ये एक-एक

बोरी गेहूं , मै तुमतीनो को दे रहा हूँ…और मै

अब कुछसमय केलिए बाहर जाना कहता हूँ..

तुमतीनो इसका जैसा चाहे उपयोग

करसकती हो…कह कर वो चला गया..अब

उनमे से एक बहु ने सोचा ये गेहूं अपने पास

रखकर मै क्या करुँगी…? कह कर उसने धीरे

धीरेवो सारे गेहूं

पक्षियों को खिला दिए… ,दूसरी बहु ने

सोचा ससुर जी जब ये देकर गएहै ..तो जरुर ये

कोई विशेष गेहूं होंगे ..मैइसको संभाल कर रख

देती हूँ.. ऐसा कह करउसने वो गेहूं एक डब्बे में

भर दिए… तीसरी बहुने

सोचा की इसका क्या किया जाए

तबउसने अपने खेत के छोटे से टुकडे में उस गेहूं के

बीजकी बोवनी कर दी …. उसे समय-समय पर

खाद-पानी दिया…कुछ महीनो बाद

किसान घर वापसलौटा तब उसने

तीनो बहुओ को पासबुलाकर पूछा की उस

गेहूंका क्या किया …?’तब

पहली वाली नेकहा कि मैंने

तो सारेपक्षियों को खिला दिए’,’दूसरी वाली

नेकहा मैंने

सभाल कर रखे है पिताजी’, लेकिनवो जब

गेहूं का डिब्बा लेकर आई तो उसमे सेसारे गेहूं

खराब हो गए थे ,उसमे कीड़े हो गएथे …अब

तीसरी बारी आई तब उसने

कहा’ससुरजी आपको वो गेहूं देखने के लिए मेरे

साथचलना होगा …,वो सबको साथ लेकर

उस खेतमें गयी जहां उसके

द्वारा बोया गया गेहूंआज भरपूर फसल बन

कर लहलहा रहा था….सबदूर इतनी सुन्दर गेहूं

कि फसल देख कर किसानबहुत खुश हुआ और

उसने उसे खूब आशीर्वाददिए…

Moral:

Uजिंदगी में मौक़ा हमसभी को मिलता है ,

मुख्य बात है कि कैसे हमउस मौके का उपयोग

करते है ….. यदि ठानलिया जाए , निश्चय

दृढ़ हो औरभावना अच्छी है

तबथोड़ी सी समझदारी और परिश्रम

से मिट्टी से भी सोना बनाया जा सकता

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s